कालिम्पोंग में कार्यशाला

छात्रों की मांगों को पूरा करने के लिए पाठ्यक्रम

मौलाना अबुल कलाम आज़ाद प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (MAKAUT), पश्चिम बंगाल हमेशा छात्रों के लाभ हेतु समर्पित है और यही कारण है कि एक नए शैक्षणिक पारिस्थितिकी तंत्र की आबश्यकता लागु करने को। MAKAUT ने समय की आवश्यकता के अनुसार विभिन्न पाठ्यक्रमों को डिजाइन किया है जिससे छात्रों को उनकी रोजगार क्षमता में सुधार करने में मदद मिलेंगे।

हाल ही में विश्वविद्यालय के माननीय उप-कुलपति, प्रोफेसर डॉ. सैकत मैत्रा कालिम्पोंग में विश्वविद्यालय के ऐसे व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के बारे में एक कार्यशाला आयोजित करने आए थे। इसका उद्देश्य उत्तर बंगाल के छात्रों और संबंधित कॉलेज प्राधिकारियों, विशेष रूप से कालिम्पोंग में इन पाठ्यक्रमों के बारे में जागरूकता बढ़ाना था।
माननीय उप-कुलपतिप्रोफेसर डॉ. सैकत मैत्रा कालिम्पोंग में आयोजित कर्मशाला में कॉलेज प्रतिनिधिओं के साथ 
वह रॉकवेल मैनेजमेंट कॉलेज, कलिम्पोंग में मकाउट परिवार के साथ आए और विभिन्न संस्थानों से छात्रों के लाभ के लिए नए पेशेवर पाठ्यक्रम शुरू करने का आग्रह किया। विश्वविद्यालय के वित्त अधिकारी डॉ. अत्रि भौमिक, आईलेड के अध्यक्ष श्री प्रदीप चोपड़ा, एनएसएचएम के निदेशक डॉ. कृष्णेंदु सरकार, आईएमएस के निदेशक डॉ. तापस रंजन सरकार उपस्थित थे। डॉ. अरिंदम रे टेक्नो इंडिया ग्रुप की ओर से और प्रियंका चटर्जी बज बज इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (बीबीआईटी) की ओर से उपस्थित थे। रॉकवेल मैनेजमेंट कॉलेज, कालिम्पोंग के निदेशक कैप्टन प्रकाश मणि प्रधान ने मेकअट परिवार के साथ एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। माकाउट के माननीय कुलपति प्रो. सैकत मैत्रा ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कालिम्पोंग के इच्छुक छात्रों और अभिभावकों को विश्वविद्यालय के विभिन्न व्यावसायिक और अन्य पाठ्यक्रमों के बारे में सूचित किया जाना चाहिए। उनके शब्दों में, "विश्वविद्यालय अपने छात्रों को उद्यमिता की ओर प्रेरित करने और रोजगार के लिए उनके कौशल में सुधार लाने में प्रयासी है।" कार्यशाला में उपस्थित लोग प्रो.मित्र द्वारा दिए गए भाषण से बहुत प्रेरित थे।

कालिम्पोंग के रॉकवेल मैनेजमेंट कॉलेज द्वारा डॉ. सैकत मैत्रा और मकाउट के अधिकारियो को  सम्मानज्ञापन
MAKAUT टीम ने कार्यशाला में शिक्षकों, छात्रों, उनके अभिभावकों से भी बात की। वास्तव में विश्वविद्यालय समाज के सभी कोनों में एक संदेश देना चाहता है कि समय की आवश्यकता यह है की छात्रों के रोजगार के लिए क्षमता में सुधार और उन्हें उद्यमिता, स्टार्ट-अप और नवाचारों की ओर प्रेरित करना। इस उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए MAKAUT परिवार कालिम्पोंग गया। प्रो.मित्र ने कई पाठ्यक्रमों का उल्लेख किया जो आज की प्रतियोगितात्मक दुनिया में छात्रों के रोजगार में सुधार के लिए बहुत उपयोगी हैं। उदाहरण के लिए, बिजनेस मैनेजमेंट, मीडिया साइंस, डिजाइनिंग टेक्नोलॉजी, होटल एंड हॉस्पिटैलिटी मैनेजमेंट, रियल एस्टेट मैनेजमेंट, बायो-टेक्नोलॉजी जैसे कोर्स छात्रों के करियर ग्राफ को बेहतर बनाने के लिए उपयुक्त हो सकते हैं। इस तरह के कोर्स पहले ही विभिन्न संबद्ध महाविद्यालयों में शुरू किए जा चुके हैं। कालिम्पोंग में, रॉकवेल एकमात्र कॉलेज है, जो कई नए पेशेवर पाठ्यक्रम शुरू करने वाला है और कार्यशाला की मुख्य बात यह थी कि, शिक्षण-अधिगम प्रक्रिया में बदलाव लाने का समय आ गया है और MAKAUT इस बदले हुए परिदृश्य में छात्रों का नेतृत्व करना चाहता है। यही कारण है कि विश्वविद्यालय एक नए शैक्षणिक पारिस्थितिकी तंत्र के लिए काम कर रहा है। MAKAUT यहां तक ​​कि ऑनलाइन पाठ्यक्रम, जो छात्रों, व्यापारियों और अनुसंधान कर्मियों के लिए डिजाइन कर रहा है, ताकि वे डिजिटलीकरण का लाभ उठाकर घर से सीख सकें। विश्वविद्यालय का एक और केंद्रित क्षेत्र अभिनव प्रयास यह है की प्रतिभाशाली दिमागों को पकड़ने और उन्हें उच्च शिक्षा और अनुसंधान के लिए प्रेरित करने के लिए विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन करना। लगभग 200 संबद्ध कॉलेजों के साथ MAKAUT परिवार पश्चिम बंगाल के सर्वांगीण विकास की ओर अग्रसर है, ताकि कोई भी कोना पीछे न रहे। यही कारण है कि यह कलिम्पोंग और पूरे उत्तर बंगाल पर भी ध्यान केंद्रित कर रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

डिजिटल विपणन

आई मित्र ऑप्टिशियन सर्टिफिकेट कोर्स